NEWS PAPER FULL FORM | NEWS PAPER का हिंदी में फुल फॉर्म क्या है?

NEWS PAPER FULL FORM:- नमस्कार मित्रों कैसे हैं आप लोग? उम्मीद है आप सभी लोग स्वस्थ होंगे और अपने जीवन का भली-भांति आनंद  ले रहे होंगे। मित्रों आज हम आपके लिए बहुत ही रोचक आर्टिकल लेकर आया जिसका नाम है NEWS PAPER FULL FORM। मित्रों न्यूज़ पेपर के बारे में तो हर कोई जानता है और सब लोगो ने न्यूज़ पेपर अवश्य ही देखा होगा। न्यूज़ का तात्पर्य वर्तमान के समय में हो रही घटनाओं की जानकारी से लगाया जाता है। शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति को जो न्यूज़ पेपर के नाम से अनजान हो।

मित्रों हिंदी न्यूज़ पेपर की शुरुआत सर्वप्रथम 1826 को हुई थी। इस समाचार पत्र अर्थात न्यूज़ पेपर का नाम उदन्तमार्तण्डत था। यदि हम दुनिया के पहले अखबार के विषय में कुछ कहना चाहे तो इसकी शुरुआत सर्वप्रथम यूरोप से हुई थी। न्यूज़पेपर का खबरों के साथ साथ हमारी लाइफ में बहुत ज्यादा अहम रोल है। न्यूज़पेपर के द्वारा ही हमें अपने आसपास की होने वाली गतिविधियों एवं सूचनाओं की जानकारी प्राप्त होती है। अपने आज के खास आर्टिकल News paper full form में आज हम न्यूज़ पेपर फुल फॉर्म के साथ-साथ न्यूज़ पेपर के बारे में बहुत सारी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे।

जैसे कि न्यूज़ पेपर का इतिहास, इसकी शुरुआत कहां से हुई? विश्व का सबसे पहला न्यूज़पेपर कौन सा था? या किन किन भाषाओं में न्यूज़पेपर का चलन सर्वप्रथम हुआ? ऐसे ही मजेदार और रोचक जानकारियों के लिए हमारे आर्टिकल में अंत तक हमारा सहयोग करें। क्योंकि हम आपको उच्च स्तर की जानकारियों को आप तक पहुंचाना चाहते हैं। साथ ही साथ हम आपको इस आर्टिकल ढेर सारे तथ्य जानने को मिलेंगे जो शायद आप पहले नही जानते होंगे। तो बिना किसी देर के बढ़ते है आर्टिकल में में अगले की ओर।

News Paper Full फॉर्म क्या है? (What is news paper Full form?)

आइए दोस्तों अब बात कर लेते हैं कि News paper full form क्या होती है? न्यूज़ पेपर, इसके नाम से तो ऐसा नहीं लगता कि इसकी कोई फुल फॉर्म होगी। परंतु न्यूज़ पेपर नाम अपने आप में यह अच्छी खासी जानकारी छुपा रखता है। NEWSPAPER Full Form कुछ इस प्रकार है North East West South Past And Present Events/Everyday Report। देखा आपने कितनी अजीब व रोचक फुल फॉर्म है इसकी। इंटरनेट पर प्रचलित न्यूज़ पेपर के कुछ और भी फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार हैं-

  1. North east west south popular action print early rest.
  2. Notable events, weather, and sports.
  3. North east-west south past and present event report.
  4. North east-west south past and present everyday report.
  5. North, east, west, south past and present entertainment report.

इसे जरूर पढ़े-

TET Full Form | TET का हिंदी में फुल फॉर्म क्या है?

न्यूज़ पेपर का इतिहास इससे संबंधित कुछ रोचक तथ्य (History of Newspaper and some interesting facts related to it)

चुकी है कहना थोड़ा मुश्किल है कि न्यूज़ पेपर का चलन कब से हुआ क्योंकि इसके बारे में अभी भी कोई ठोस जानकारी प्राप्त नहीं है। बहुत पहले लोग अपने संदेश एक दूसरे को भेजने के लिए कई चीजों का इस्तेमाल करते थे जैसे कुछ पेड़ के पत्तों पर संदेश लिखते थे कुछ कपड़ों पर संदेश लिखते थे और यदि कहीं कोई सूचना लिखवा नहीं होती थी तो भी बड़े-बड़े पत्थर में दीवार पर उन सूचनाओं को अंकित करा दिया करते थे।

इतिहास में सबसे पहला न्यूज़ पेपर अर्थात ज्ञात समाचार पत्र 59 ईसा पूर्व रोमन एक्टा डिउरना (The Acta diurna)’ है। न्यूज़ पेपर से जुड़ी और भी रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे इस आर्टिकल News paper full form में अंत तक जरूर बने रहें। मित्रों चीन जैसे कई देशों ने अपने संदेश फैलाने के लिए एवं सूचना के प्रसारण करने के लिए लकड़ियों और papers का भी इस्तेमाल किया। लगभग 3 शताब्दी से लेकर आठवीं शताब्दी तक इसी प्रकार लकड़ियों और papers पर संदेश को छापा जाने लगा।

इसके पश्चात जब दुनिया का पहला प्रिंटिंग प्रेस का आविष्कार हुआ, तो 1605 में जर्मनी का पहला अखबार छपा। जिसका नाम था Relation aller Fürnemmen und gedenckwürdigen Historien और इस समाचार पत्र (News Paper) को प्रकाशित करने वाले व्यक्ति का नाम Johann Carolus था। यदि हम अपने देश भारत की बात करें तो यहां पर न्यूज़ पेपर का चलन थोड़ा सा मध्यम गति से रहा।

भारत में न्यूज़ पेपर सन 1780 में James Augustus Hickey नाम के व्यक्ति के द्वारा ही अस्तित्व में आ पाया। इस पहले समाचार पत्र का नाम बंगाल गजट था। इस बंगाल गजट नाम को कोलकाता जनरल एडवरटाइजर के नाम से भी जाना जाता है।

आइए तो बात कर लेते हैं अभी कौन सी और न्यूज़ पेपर है जो हमारे भारत में प्राचीन समय में प्रकाशित हो चुके हैं।

  1. कलकत्ता गेज़ेट (Kolkata Gadget) को प्रकाशित किया गया – सन 1784
  2. बंगाल जर्नल (Bengal General) को प्रकाशित किया गया – सन 1785
  3. अंग्रेजी भाषा में मद्रास में रिचर्ड जॉनसन द्वारा – सन 1785
  4. ‘मद्रास कूरियर’ (Madras Courier) को प्रकाशित किया गया – सन 1785
  5. बॉम्बे हेराल्ड (बॉम्बे में प्रकाशित पहला समाचारपत्र) -सन 1789
  6. बॉम्बे कूरियर (bombay Courier)को प्रकाशित किया गया – सन 1790
  7. बॉम्बे गेज़ेट (Bombay Gadget) को प्रकाशित किया गया – सन 1791
  8. आर विलियम का ‘मद्रास गैजेट’ को प्रकाशित किया – सन 1795
  9. हम्फ्री के द्वाराइंडियन हेराल्ड’ (Indian Herold) को प्रकाशित – सन 1796
  10. ईस्ट इंडिया प्रशासन के द्वारा पारित विनियमन (Regulation passed by East India Administration) – सन 1799

इसे जरूर पढ़े-

UG Full Form | UG के अंतर्गत आने वाली कोर्स

NEWS PAPER शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई? (How did the Newspaper word originate?)

मित्रों न्यूज़ पेपर शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है पहला न्यूज़ और दूसरा पेपर। Hensleigh Wedgwood के द्वारा लिखी गई एक Dictionary of English Etymology के हिसाब से यहां पर पहला शब्द यानी news की उत्त्पति एक French शब्द से हुई थी। जिसका तात्पर्य “New Things” होता है। यह सब कहीं ना कहीं न्यूज़ पेपर को कुछ हद तक बयां भी करता है।

वही यदि हम न्यूज़ पेपर के दूसरे शब्द अर्थात PAPER की उत्पत्ति के विषय में बात करें तो यह शब्द की उत्पत्ति लेटिन भाषा के पेपिरस (papyrus) में हुई है। पेपिरस एक पौधे का नाम है जो प्राचीन मिस्र में पाया जाता है। इस पेपिरस नाम के पौधे से ही कागज बनाने का कार्य होता है। पेपिरस शब्द आपको एक Dictionary of Root words नाम की डिक्शनरी में मिल जाएगा।

इंटरनेट की दुनिया में सर्वप्रथम आने वाला प्रथम भारतीय समाचार पत्र कौन सा था? (Which was the first Indian newspaper to come first in the world of internet?)

20 सितंबर 1878 में प्रकाशित होने वाला भारतीय समाचार पत्र हिंदू, नेट पर प्रकाशित होने वाला पहला समाचार पत्र है। सन 1995 में इसका प्रकाशन इंटरनेट पर डाला गया। चेन्नई, इस समाचार पत्र का मुख्य कार्यालय है। आर्टिकल News paper full form का यही उद्देश्य है कि आपको न्यूज़ पेपर से संबंधित सारी जानकारी सटीक उपलब्ध कराई जाए। वर्तमान के समय में तो जो अखबार आपको प्रिंटेड फॉर्म ना मेरे को मिलते हैं लगभग सभी के प्रति आपको इंटरनेट पर आसानी से मिल जाती है परंतु पहले के दौर में इंटरनेट कहा ही था, इसलिए लोग कागज वाले समाचार पत्र (News paper) पर निर्भर रहते थे।

ब्रेकिंग न्यूज़ किसे कहते हैं? (What is Breaking News?)

मित्रों पल-पल की खबर हमें अपने स्मार्टफोन या मोबाइल पर मिलती रहती है। फिर वह चाहे किसी न्यूज़ चैनल की तरफ से हो या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की तरफ से। ऐसे ही पल-पल की खबर देने वाली सूचनाओं को हम ब्रेकिंग न्यूज़ (Breaking News) कह देते हैं। आजकल इंटरनेट इतना फास्ट हो गया है कि हमें हर सेकंड की जानकारी अपने फोन पर ही प्राप्त हो जाती है। अभी आर्टिकल News paper full form में बहुत सारी अहम जानकारियां देना बाकी है। अतः आप आर्टिकल का आनंद अंत तक अवश्य उठायें।

इसे जरूर पढ़े-

Resume kaise banaye | मोबाइल से रिज्यूम कैसे बनाये?

न्यूज़ पेपर से संबंधित कुछ बहुत ही रोचक जानकारियां (Very interesting facts about News paper)

मित्रों अब इसके बाद हम आपको नीचे पर से संबंधित कुछ ऐसे रोचक तथ्यों के बारे में जानकारी देंगे जिन्हें आपने शायद पहले कभी ना सुना हो क्योंकि इन तथ्यों के बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। इंजॉय करते रहे हमारे इस News paper full form आर्टिकल को अंत तक। तो चलिए अब इन तथ्यों को जान लेते हैं-

  • विश्व का सबसे ओल्ड न्यूज़ पेपर का नाम Gazzetta Di Mantova, यह न्यूज़ पेपर सन 1664 में शुरू किया गया और आज के समय मे भी ये न्यूज़ पेपर मौजूद है।
  • भारत में हिन्दी का प्रथम newspaper सन 1826 को प्रकाशित हुआ जिसका नाम उदंत मार्तंड था।
  • अमेरिका का पहला अखबार अर्थात समाचार पत्र बोस्टन में 1690 में प्रकाशित हुआ था। यह समाचार पत्र काफी चर्चा में रहा।
  • ब्रिटेन में पहला सफल daily समाचार पत्र 1702 में छाप गया था।
  • हेलीफैक्स समाचार पत्र कनाडा का सर्वप्रथम समाचार पत्र है।
  • पहला संडे अखबार ब्रिटिश गजट और संडे मॉनिटर ब्रिटेन में 1780 में प्रकाशित हुआ था। उस समय का यह सबसे चर्चित न्यूज़पेपर था।
  • भारत के राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक news paper published होते हैं।
  • डेली यूनिवर्सल रजिस्टर (Daily Universal Register) पहली बार सन 1785 में प्रकाशित हुआ था। इसके पश्चात सन 1788 में इसके नाम को बदलकर “द टाइम्स” कर दिया गया।
  • सन 1814 में टाइम्स पहला ऐसा प्रिंटिंग प्रेस था जो भाप से चलता था।
  • ऑस्ट्रेलिया में सर्वप्रथम अखबार 1803 में छपा था।
  • पहला मराठी भाषा में समाचार पत्र का नाम डारपान था।

इसे जरूर पढ़े-

Book Full Form | Book की फुल फॉर्म क्या है?

न्यूज़ पेपर फुल फॉर्म से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Some important frequently asked questions related to Newspaper Full Form)

Ques. सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन अखबार का नाम क्या है? (What is the name of the most read online newspaper?)

Ans. USA Today, दुनिया का ऑनलाइन सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला अखबार है यहां पर करीब 70 lac से भी ज्यादा लोग रोज विजिट (Visit) करते हैं।

Ques. अब तक का सबसे पुराना News paper का क्या नाम है? (What is the name of the oldest newspaper ever?)

Ans. News paper हरलेम्स दगबल (The Haarlems Dagblad) को दुनिया का सबसे पुराना अखबार माना जाता है।

Ques. FOURTH ESTATE अर्थात चौथा स्तम्भ से आप क्या समझते हैं? (What do you understand by FOURTH ESTATE or fourth column?)

Ans. Fourth estate का तात्पर्य समाचार मीडिया से लगाया जाता है।

Ques. भारत का सबसे पुरानी अखबार का क्या नाम है? (What is the name of the oldest Newspaper of India?)

Ans. The Bombay Samachar भारत का सबसे पुराना news paper है। परंतु अब इसका नाम बदलकर मुंबई समाचार रख दिया गया है।

Ques. उत्तर प्रदेश का पहला अखबार का क्या नाम है?(What is the name of the first Newspaper of UttarPradesh?)

Ans. बनारस अखबार पत्र को उत्तर प्रदेश का सबसे पुराना अखबार माना जाता है। इस अखबार पत्र  का प्रकाशन राजा शिव प्रसाद सितारे हिन्द द्वारा सन 1845 में काशी मैं किया गया था।

गोविन्द आर्या

Hello friends my name is Govind Arya and I am a student of polytechnic (Information Technology) and I am very fond of writing so I give Hindi content for someone's website. And give information about internet and government scheme.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.