UG Full Form | UG के अंतर्गत आने वाली कोर्स

UG Full Form:- नमस्कार दोस्तों! हमारे इस ब्लॉग में आपका बहुत-बहुत स्वागत है आज हम आपके लिए शिक्षा से संबंधित एक बहुत ही जाना पहचाना एवं बहुत खास आर्टिकल UG Full Form लेकर आए हैं। दोस्तों बहुत सारे स्टूडेंट लोग अपने कैरियर को लेकर चिंतित रहते हैं कि वह 12th के बाद क्या करें और वह यूजी व पीजी में अंतर भी स्पष्ट नहीं कर पाते हैं। हमारे आज के आर्टिकल का यही उद्देश्य है कि हम आपको यूजी और पीजी से जुड़ी सभी जानकारियों को आपके साथ साझा करें। स्टूडेंट्स की सारी समस्याओं का समाधान आज के आर्टिकल में होने वाला है।

शिक्षा का क्षेत्र बहुत विशाल है। इसके बारे में जितना भी कहा जाए कम है। मित्रों हमने अपने आर्टिकल UG Full Form में यूजी से संबंधित सभी बातों का जिक्र किया है। सब साथ हमने यह भी बताया है कि इसके अंतर्गत कौन कौन से कोर्स और विषय आते हैं, जिससे कि आप अपने लिए एक बेहतर कैरियर चुन सकें। यूजी कोर्स करने के लिए क्या पात्रता जरूरी है इस बात को भी हमने अच्छे ढंग से समझाने का प्रयास किया है।

UG का क्या तात्पर्य है? (What is the meaning of UG?)

दोस्तों UG के बारे में बहुत सारे स्टूडेंट्स ठीक प्रकार से नहीं जानते हैं। खासकर वो स्टूडेंट्स जो अभी 12th क्लास या उससे नीचे की कक्षा में पढ़ाई कर रहे हैं। हमारे इस आर्टिकल UG Full Form का यही उद्देश्य है कि आपको UG से जुड़ी हर चीज के बारे में सटीक जानकारी प्राप्त करवाएं। दोस्तों यू जी (UG) का मतलब होता है अंडर ग्रेजुएट (Under graduate)।

जब आप अपने बारवीं क्लास की पढ़ाई कंप्लीट कर लेते हैं, इसके बाद आप किसी कॉलेज या महाविद्यालय में एडमिशन के लिए जाते हैं तो वह आपका बैचलर क्लास कहलाता है। जिसे अंडर ग्रेजुएट कोर्स या Under graduate degree कहते हैं। 12वीं के बाद होने वाले इन अंडरग्रैजुएट कोर्स को स्नातक नाम से भी जानते हैं। चलिए मित्रों अब यह जान लेते है कि अंडर ग्रेजुएट के अंतर्गत कौन कौन से कोर्स हमारे यहां होते हैं जिन स्टूडेंट्स अपना एडमिशन लेकर अपना कैरियर आगे बना सकते हैं।

इसे भी जाने-

Book Full Form | Book की फुल फॉर्म क्या है?

UG के अंतर्गत आने वाली कोर्स (Courses Comes in UnderGraduate )

अंडर ग्रैजुएट कोर्सेज के अंदर बहुत सारे courses आते हैं। अलग-अलग स्ट्रीम के हिसाब से अलग-अलग डिग्री और कोर्सेज बनाए गए हैं। उदाहरण के लिए यदि आप 12th क्लास में साइंस स्ट्रीम से है तो आपके लिए साइंस से संबंधित स्नातक कोर्स (UG courses) बनाए गए हैं और यदि आप आर्ट साइड (Art Stream) से तो आपके लिए Art से संबंधित courses को बनाया गया है। साइंस and आर्ट स्ट्रीम से संबंधित हम कुछ डिप्लोमा और कोर्सेज का वर्णन अपने इस आर्टिकल UG Full Form में नीचे कर रहे हैं, अतः आप इन्हें ध्यान से पढ़ें।

  • PHARMA (Bachelor of Pharmacy) – अंडरग्रैजुएट कोर्स के अंतर्गत आपको medicine से संबंधित जानकारी दी जाती है। बायोलॉजी स्ट्रीम के स्टूडेंट्स इस कोर्स को कर सकते हैं। इस course के अंतर्गत आपको medicine बनाना एवं medicine से जुड़ी बहुत सारी जानकारियां दी जाती है। यदि फार्मेसी से संबंधित फील्ड में आप अपना carrer बनाना चाहते हैं तो बी फार्मा आपके लिए एक अच्छा job profile साबित हो सकता है।
  • Com (Bachelor of commerce) – यह भी एक अंडरग्रैजुएट कोर्स है, जिसे स्टूडेंट 12th क्लास pass करने के बाद कर सकते हैं। बीकॉम कोर्स or डिग्री के अंतर्गत आपको अकाउंटिंग, फाइनेंस, बैंक, इनकम टैक्स, बिज़नेस, आदि से संबंधित शिक्षा दी जाती है। बीकॉम का कोर्स करने के बाद आप एकाउंटिंग, बैंकिंग, इनकम टैक्स आदि क्षेत्रों में अपना उज्जवल भविष्य बना सकते हैं।
  • LLB (Bachelor of Law) – LLB को Bachelor of Legislative Law भी कहां जाता है। जिसका हिंदी में अर्थ होता है “विधायी कानून का स्नातक”। हमारे देश में एलएलबी के एक और फुल फॉर्म बहुत ही प्रचलित है जो इस प्रकार है Bachelor of Liberal Law. यह कोर्स कानून और बकालत से संबंधित है। यदि आप कानून से जुड़े शिक्षा में इंटरेस्टेड है तो आप LLB डिग्री के लिए 12th pass करके इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।
  • SC (Bachelor of Science) – जो स्टूडेंट साइंस स्ट्रीम से पढ़े हुए होते हैं। 12th क्लास में बीएससी के लिए एडमिशन ले सकते हैं। जैसा कि इसके नाम से क्लियर है “बैचलर ऑफ साइंस”, इसमें आपको साइंस से संबंधित विषय पढ़ाए जाएंगे। अगर आप biology stream से है तो आपको वनस्पति विज्ञान (Botany), जंतु विज्ञान (Zoology) और रसायन विज्ञान (Chemistry) के विषयों का अध्ययन करना होता है।
  • और यदि आप Maths स्ट्रीम से होते हैं तो आपको रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान (Physics)और गणित के विषयों का अध्ययन करना होता है। यह कोर्स 3 साल का होता है, जो कि सरकार के नए नियम के अनुसार सेमेस्टर में डिवाइड कर दिया गया है। बीएससी करने के बाद आप मास्टर ऑफ साइंस (MSc) अर्थात पीजी कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम देकर Admission ले सकते हैं।
  • BCA (Bachelor of computer application) – BCA कोर्स का full form बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन हैं। यह कंप्यूटर से संबंधित अंडर ग्रैजुएट कोर्स है। बीसीए के अंतर्गत आपको कंप्यूटर से संबंधित सभी जानकारियों का अध्ययन करना होता है जैसे कि वेब डिजाइनिंग, प्रोग्राम, एचटीएमएल, C++लैंग्वेज, एप डेवलपमेंट etc. जो भी स्टूडेंट कंप्यूटर से संबंधित इस महिला डिग्री में अपना करियर बनाना चाहते हैं स्टूडेंट 12th pass करने के बाद बीसीए में किसी अच्छे college में दाखिला ले सकते हैं।
  • मित्रों हमारा आज का आर्टिकल UG Full Form उम्मीद करता हूं आपको पसंद आ रहा होगा। यूजी से संबंधित और भी courses के बारे में हमें अपने आर्टिकल में बताया है। कृपया आर्टिकल को last तक पढ़ें, जिससे कि अंडरग्रैजुएट कोर्स से संबंधित आपका कोई भी डाउट बाकी ना रह जाए।
  • BBA (Bachelor of Business Administration) – यह कोर्स बिजनेस से संबंधित है। इसमें आपको business से संबंधित सभी विषयों का अध्ययन कराया जाता है, जो एक अच्छे बिजनेस मॉडल के अंतर्गत आते हैं। बीबीए के अंतर्गत इन सब्जेक्ट जैसे कि एकाउंटिंग (Accounting), एप्लाइड स्टैटिक्स (Applied Statics), business कम्युनिकेशन (Business Communication) & मैनेजमेंट (Management), मार्केटिंग (Marketing) और बहुत सारे बिज़नेस के related सारे सब्जेक्ट को शामिल किया गया है।
  • बीबीए कंप्लीट करने के बाद आपके performance के हिसाब से आपको प्लेसमेंट दिया जाता है। अतः जो स्टूडेंट BBA में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो 12th pass के बाद BBA के एडमिशन के लिए किसी अच्छे महाविद्यालय में अपना BBA कर सकते हैं।
  • A (Bachelor of Arts) – यह डिग्री Art स्ट्रीम से संबंधित है। 12th क्लास में यदि आप आर्ट स्ट्रीम से हैं तो आप b.a. में एडमिशन ले सकते हैं। एक अच्छी बात यह है कि 12 आपके पास है जी साइंस स्ट्रीम है जब भी आप BA कोर्स में एडमिशन आराम से ले सकते हैं।
  • E/B.TECH (Bachelor of Engineering/Technology) – यदि आप इंजीनियरिंग फील्ड में interest रखते हैं तो आप बीटेक में एडमिशन ले सकते हैं। परंतु इसके लिए आपको 12th क्लास में मैथ होना जरूरी है, तभी आप बीटेक में एडमिशन ले पाएंगे। Btech, 4 साल क अंडर ग्रैजुएट कोर्स है। इसके अंतर्गत आपको इंजीनियरिंग की पढ़ाई कराई जाएगी। इसके अंतर्गत बहुत सारे course and stream भी शामिल है जैसे भी कंप्यूटर इंजीनियर, मैकेनिकल इंजीनियर, सिविल इंजीनियर आदि।

इसे भी जाने-

Computer full form in Hindi | कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?

स्नातक पाठ्यक्रम के लिए पात्रता (Eligibility for Undergraduate Course)

स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने के लिए कौन-कौन से पात्रता होना जरूरी है अथवा कौन-कौन सी चीज है जो हमें अंडर ग्रेजुएट course में admission लेने के लिए अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। इन सभी बातों का वर्णन हम इस पैराग्राफ के अंतर्गत करने वाले हैं।

  • UG admission के लिए के लिए आपको 12th क्लास अवश्य pass करना होगा। 12th बाद ही आप यूजी कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • यदि आप एक अच्छे UG कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपके पास 12th class में अच्छे नंबर होना बहुत जरूरी है।
  • विषय से संबंधित सभी पात्रता है पूरा करना बहुत जरूरी है।

पी जी अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन किसे कहते हैं?

पी जी का पूरा नाम पोस्ट ग्रेजुएशन (स्नातकोत्तर) होता है। यू जी अर्थात बैचलर डिग्री कंप्लीट करने के बाद जब आप ऊपर हायर क्लासेस में दाखिला लेते हैं तो उसे पीजी or पोस्ट ग्रेजुएशन कहते हैं। बिना बैचलर डिग्री कंप्लीट अर्थात अंडर ग्रेजुएशन कंप्लीट किए बिना आप पोस्ट ग्रेजुएशन में दाखिला नहीं ले सकते।

आपको बताते चलें की पीजी या पोस्ट ग्रेजुएशन का डिग्री 2 साल का होता है। इसे करने के बाद आपको सब्जेक्ट में मास्टर कहलाते हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन को हिंदी में परास्नातक कहते हैं। पी जी के अंतर्गत M.com, MBA, M.A, MSC,  MCA, M.Tech, MASc, M.Tech आदि courses को शामिल किया गया है। मित्रों यहां पर ध्यान देने बात यह है कि आपने जिस स्ट्रीम या कोर्स में बैचलर डिग्री को उत्तरण किया है आप उसी स्ट्रीम या कोर्स में पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर यदि आपने बीएससी कंप्लीट किया है तो आपको स्नातकोत्तर में एमएससी (Master Of Science) ही करना पड़ेगा। अर्थात पोस्टग्रेजुएट कोर्स उसी सब्जेक्ट में मिलेगा जिसमें आपने bachelor डिग्री उत्तीर्ण कर रखी है। आशा करता हूं दोस्तों हमारे आज के आर्टिकल UG Full Form से पीजी (पोस्ट एजुकेशन या स्नातकोत्तर) से संबंधित आपने बहुत सारी जानकारियां अर्जित की होंगी।

अलग-अलग स्ट्रीम से जुड़े कुछ मास्टर डिग्री के नाम हमने नीचे बताए हैं जिनमें से कोई एक कोर्स में दाखिला लेकर आप अपने लिए एक अच्छा कैरियर चुन सकते हैं।

  • Masters in Technology
  • Master of Arts
  • Master of Computer Application
  • Master of Library & Information Science
  • Master of Business Administration
  • Master Of Science

इसे भी जाने-

Percentage Kaise Nikale | परसेंटेज कैसे निकालते है?

पीजी डिग्री पूरी करने के बाद जॉब फील्ड (Job opportunity after completing PG degree)

मित्रों अंततः अब बात आती है कि पीजी डिग्री कंप्लीट करने के बाद हम किन किन क्षेत्रों में अपना कैरियर बना सकते हैं। जिससे कि हमारे भविष्य में हमें रुपयों पैसों से संबंधित परेशानियों का सामना ना करना पड़े। हमने यहां पर आपको कुछ फील्ड सेक्टर बताए हैं, जिनमें आप अपना कैरियर बना कर अपने जीवन को सफल बना सकते हैं।

  • IT Field – आईटी फील्ड एक ऐसा सेक्टर है जिसमें भविष्य में बहुत सारी नौकरियों का अवसर प्राप्त होगा। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी फील्ड के अंतर्गत यदि आप अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक अच्छी अपॉर्चुनिटी होगी।
  • Banking Field – बीकॉम एंड एमकॉम करने के बाद आप बैंकिंग फील्ड में अच्छा खासा कैरियर बना सकते हैं। आप बैंकिंग, केशियर, बैंक क्लर्क, बैंक मैनेजर, लोन मैनेजर आदि के पदों में एक अच्छा फ्यूचर बना सकते हैं परंतु मित्रों सब कुछ आप की मेहनत पर ही डिपेंड करता है।
  • Marketing Sector – मार्केट सेक्टर के अंतर्गत बहुत सारे नए अवसरों पर जॉब निकलती रहती हैं। एम कॉमर्स कम्पलीट करने वाले छात्रों के लिए यहां रोजगार के नए अवसर निकलते रहते हैं अतः इसमें भी एक अच्छा कैरियर बनाया जा सकता है।
  • Cooperative Sector – अपनी मास्टर डिग्री कंप्लीट करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट सेक्टर में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं कहां पर आपको आपकी क्वालिफिकेशन के आधार पर जॉब दी जाएगी और उसी के हिसाब से आपको सैलरी मिलेगी।
  • Digital marketing – इसके विषय में तो हर कोई जानता ही होगा। यदि आप कंप्यूटर से संबंधित विषय में में मास्टर डिग्री करे हुए हैं तो डिजिटल मार्केटिंग आपके लिए बहुत अच्छा कैरियर साबित हो सकता है। डिजिटल मार्केटिंग का जॉब फील्ड काफी बड़ा है अतः इसमें रोजगार की कमी नहीं है। आप इसमें SEO मैनेजर, digital मैनेजर, ईमेल मार्केटर आदि क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।

UG Full Form से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न (Some very important FAQs related to UG Full Form)

प्रश्न- यू जी का फुल फॉर्म क्या होता है? (What is the full form of UG?)

उत्तर- यूजी का फुल फॉर्म अंडर ग्रेजुएशन (Under graduation) होता है।

प्रश्न- अंडर ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए किन योग्यताओं का होना जरूरी है? (What are the requirements to do any bachelor or under graduation courses?)

उत्तर- कोई भी अंडर ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए सर्वप्रथम आपको 12th पास होना बहुत ही जरूरी है। बिना बारहवीं क्लास उत्तीर्ण किए आप यूजी कोर्स इसके लिए अप्लाई नहीं कर सकते हैं।

प्रश्न- पी जी का क्या तात्पर्य है और यह कौन कौन कर सकता है? (What is PG and who can do this?)

उत्तर- पी जी का तात्पर्य पोस्ट ग्रेजुएशन से होता है और बैचलर डिग्री कंप्लीट करने के बाद आप पीजी को कर सकते हैं। पी जी को मास्टर डिग्री भी कहा जाता है।

गोविन्द आर्या

Hello friends my name is Govind Arya and I am a student of polytechnic (Information Technology) and I am very fond of writing so I give Hindi content for someone's website. And give information about internet and government scheme.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.